विलुप्त प्रजाति के वन्य प्राणी स्तनपाई जीव पैंगोलिन की तस्करी में एक महिला को मिजोरम से गिरफ्तार किया है

On 07/07/2016    | Time: 11:04:43 AM | Source: M.P.Balaghat Mukesh Bhatt | Visits: 1748



विलुप्त प्रजाति के वन्य प्राणी स्तनपाई जीव पैंगोलिन की तस्करी में एक महिला को मिजोरम से गिरफ्तार किया है
बालाघाट (मुकेश भटट) प्रदेश के तीन जिले बालाघाट सिवनी और छिंदवाड़ा सहित सतपुड़ा के जंगलों में पाये जाने वाले विलुप्त प्रजाति के वन्य प्राणी स्तनपाई जीव पैंगोलिन का शिकार कर उसकी खाल को अंर्राष्टीय बाजार में पहॅुचाने वाले आरोपियों को एसटीएफ लगातार सामने ला रही है। बालाघाट आर.सी.चैहान रेंजर लांजी ने बताया कि वन विभाग के द्वारा पैंगोलिन के मामले में गठित एसटीएफ ने म्यामांर की रहने वाली लुवान गोंडिंग नामक महिला तस्कर को मिजोरम से गिरफ्तार किया है। जो सरहद के पार पैंगोलिन पहॅुचाने का काम करती थी। जिसे म्यामांर से लाकर आज जिला न्यायालय बालाघाट में पेश किया गया है। जानकारी के अनुसार इस वन्यप्राणी का इस्तेमाल दक्षिण पुर्व एशिया के देशों में शक्ति वर्धक दवाईयां एवं बुलट फ्रुप जैकेट और ड्रक्स को बनाने में इस्तेमाल किया जाता था। इसके अलावा कुछ सजावटी वाली वस्तुओं में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। यह चर्चित मामला 2014 से प्रकाश में आया है। और तब से लेकर अब तक बालाघाट जिले के अलावा देश के मिजोरम, कलकत्ता, असम सहित मध्यप्रदेश के पड़ौसी जिलो से भी तस्करों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चूका है। वहीं इस मामले में यह महिला आरोपी 22 वे नंबर की मुख्य आरोपी है। जो पेंगोलिन के स्केल और अवशेष को देश की सरहद से पार करने में अहम भूमिका निभाती थी। विदेश तक पैंगोलिन तस्करी के इस मामले में अब वन विभाग और एसटीएफ इंटरपोल के माध्यम से विदेशों में भी जॉच करेगी।