गांव-गरीब की सरकार जनता के द्वारः-मा0 ऊर्जा मंत्री

On 23/07/2018    | Time: 11:57:28 AM | Source: Mathura News | Visits: 75



गांव-गरीब की सरकार जनता के द्वारः-मा0 ऊर्जा मंत्री
सकराया में आयोजित किसान चैपाल लगाकर सुनी जनसमस्याएं

हर घर में शौचालय जरूरी है, साफ-सफाई का स्वयं संकल्प लें

कृषि अधिकारियों ने किसानों को योजनाओं के बारे में विस्तार से बताया

ग्रामीणों की समस्याएं सुनकर अधिकारियों को निस्तारण के निर्देश दिये

मथुरा / प्रदेश के मा0 ऊर्जा मंत्री श्रीकान्त शर्मा जी ने तहसील सदर के गांव सकराया में किसान चैपाल लगाकर ग्रामीणों की समस्याओं से सीधे संवाद किया और समस्या के निस्तारण के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा किये जा रहे कार्यों को चेक करने के लिए सरकार जनता के द्वार पर है। उन्होंने जन कल्याणकारी योजनाओं को दिलाने के लिए संबंधित अधिकारियों को कड़े निर्देश दिये।

उन्होंने कहा कि यह सरकार गांव-गरीब की सरकार है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने बदलाव की शुरूआत की है और 2022 तक किसानों की आय को दोगुना निश्चितरूप से करेगी। अब मात्र 12 रूपये साल के हिसाब से दुर्घटना बीमा किया जाता है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि किसानों को आर्थिकरूप से आत्म निर्भर बनाने के लिए सरकार निरन्तर प्रयासरत है। आने वाले समय में फसल बीमा के तहत मात्र दो प्रतिशत लाभार्थी को जमा करना होगा और 98 प्रतिशत सरकार प्रीमियत अदा करेगी। हर घर में शौचालय जरूरी है, जिसके लिए गरीब लोगों को 12 हजार रूपये पुरस्कार के रूप में दिये जा रहे हैं।

मा0 मंत्री जी ने कहा कि वर्तमान सरकार किसान हित में कार्य कर रही है। पहले फसलों के बीमा तथा किसाल क्रेडिट कार्ड की व्यवस्था नहीं थी, लेकिन अब यह सुविधा किसानों को उपलब्ध कराई जा रही है। मा0 प्रधानमंत्री जी का सपना किसानों की आय को दोगुना करना है। जय जवान जय किसान तथा जय विज्ञान का नारा देते हुए कहा कि हम सभी सौभाग्यशाली हैं। हमें ईमानदार प्रधानमंत्री मिला जिन्होंने गरीबी को देखा है। उनका कहना है कि यह सरकार गरीबों की, किसानों की, तथा यह सबकी सरकार है। उन्होंने बताया कि 90 पैसे प्रतिदिन के हिसाब से गरीबों को दो लाख रू0 का बीमा, एक रू0 प्रतिमाह के हिसाब से दुर्घटना बीमा का लाभ दिया जा रहा है। इसके अतिरिक्त आयुष्मान भारत योजना के तहत पांच लाख रू0 प्रति परिवार का लाभ देने की योजना है। उन्होंने कहा कि सभी का बाहर खुले में शौच को जाना बीमारियों को आमंत्रण देता है और गरीब की बेटी की इज्जत मेरी इज्जत है, हर घर में शौचालय बनवाने का कार्य किया है। प्रधानमंत्री जी का यह भी सपना है कि सन् 2022 तक हर गरीब के पक्की छत देगें।

उन्होंने कहा कि हर ब्लाॅक स्तर पर गौ शाला खोली जायेंगी, जो आमजन के सहयोग से चलाई जायेंगी। अधिक खाद डालकर हम जमीन को धोखा दे रहे हैं, हमारी जमीन सोना उगल रही है इसलिए उसे खराब करने का कार्य न करें। उन्होंने किसानों से 31 जुलाई तक फसलों का बीमा कराने का अनुरोध करते हुए कहा कि इसमें लापरवाही न करें और मृदा स्वास्थ्य परीक्षण अवश्य करायें, जिससे फसल का उत्पादन और अधिक बढ़ सके। उन्होंने कहा कि भारत की अर्थ व्यवस्था विश्व में 06वें स्थान पर है। सरकार ने किसान को सुरक्षा कवच देने का कार्य किया है। इसमें जागरूक होने की आवश्यकता है। हम सभी का दायित्व बनता है कि किसानों का स्वालम्बी बनायें।

इस अवसर पर उप कृषि निदेशक धुरेन्द्र कुमार ने बताया कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, सुरक्षित अन्न भण्डारण, फसलों के अवशेष न जलाने, मृदा स्वास्थ्य परीक्षण सहित विभिन्न कृषि की जन कल्याणकारी योजनाओं के बारे में विस्तार से अवगत कराया गया। उन्होंने मा0 मंत्री जी को अवगत कराया क्षेत्र में 45 हजार हैक्टेयर में कपास की फसल होती है। किसान चैपाल में ब्लाॅक प्रमुख प्रतिनिधि पन्नालाल गौतम, किसान नेता हीरा सिंह, राजेश पण्डित, सीडीओ रामनेवास गुप्ता, एसडीएम सदर क्रान्तिशेखर सिंह, अधीक्षण अभियंता विद्युत, डीएसओ सहित हजारों की संख्या में क्षेत्रीय ग्रामीणवासी उपस्थित थे।